These foods can prove to be very beneficial for balancing hormones

0
24


 

हार्मोन का असंतुलन कई परेशानियां खड़ी कर देता है। शरीर में मौजूद कोई भी हार्मोन जब तय सीमा से कम या ज्यादा हो जाता तो बीमारियां घेरने लगती हैं। महिलाओं और पुरुषों को स्वस्थ रहने के लिए जरूरी है कि शरीर में हार्मोन का संतुलन बना रहे। हार्मोन्स शरीर को ही नहीं मस्तिष्क और भावनाओं को भी प्रभावित करते हैं। 
 
www.myupchar.com से जुड़े एम्स के डॉ. अनुराग शाही का कहना है कि हार्मोन शरीर के केमिकल घटक होते हैं, जिनसे शरीर में कई ग्रंथियां बनती हैं। ये शक्तिशाली केमिकल रक्त के साथ पूरे शरीर में फैले होते हैं और ऊतकों व अंदरूनी अंगों को उनके काम में मदद करता है। जब हार्मोन का संतुलन खराब हो जाता है तो कोई विशेष हार्मोन या तो बहुत कम हो जाता है या ज्यादा हो जाता है। इस स्थिति को ही हार्मोन असंतुलन या हार्मोन इम्बेलेंस कहते हैं।
 
विशिष्ट खाद्य पदार्थ हार्मोन को संतुलित करने में सहायता कर सकते हैं। किसी भी दवा का सेवन किए बिना समग्र स्वास्थ्य में सुधार हो सकता है। हालांकि, हर किसी का शरीर अलग-अलग प्रतिक्रिया करता है, इन स्वस्थ खाद्य पदार्थों से एक स्वस्थ आहार सुनिश्चित हो सकता है जो शरीर को बेहतर तरीके से काम करने में मदद करता है।
 
अलसी के बीज
अलसी के बीज से हार्मोन के लिए सभी प्रकार के लाभ हो सकते हैं। अलसी का बीज ‘फाइटोएस्ट्रोजेन’ का एक बड़ा स्रोत है और इसमें विशेष रूप से एक प्रकार का फाइटोएस्ट्रोजन होता है, जिसे लिगनेन कहा जाता है। लिगनेन्स में एस्ट्रोजेनिक और एंटीस्ट्रोजेनिक प्रभाव दोनों होते हैं, और उन्हें विशिष्ट प्रकार के कैंसर के खिलाफ सुरक्षात्मक लाभ होने के लिए जाना जाता है। अलसी के बीज भी ओमेगा -3 फैटी एसिड, फाइबर और एंटीऑक्सिडेंट का एक अच्छा स्रोत है।
 
नट्स
बादाम जैसे नट्स एंडोक्राइन सिस्टम पर प्रभाव डालते हैं, जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद कर सकते हैं। वे इंसुलिन को कम करने और रक्त शर्करा के स्तर को संतुलित करने में भी सहायता कर सकते हैं।
 
विशेष रूप से अखरोट में पॉलीफेनोल्स होते हैं, जो शरीर में मुक्त कणों का मुकाबला करके हृदय की रक्षा कर सकते हैं। इस घटक में एंटी-इन्फ्लेमेटरी एजेंट भी हो सकते हैं और वे ओमेगा -3 से भरपूर होते हैं जो मस्तिष्क स्वास्थ्य के लिए उत्कृष्ट हैं।
 
अनार
यह एंटीऑक्सिडेंट युक्त फल शरीर में अतिरिक्त एस्ट्रोजन उत्पादन को अवरुद्ध करने में सहायता कर सकता है। अनार में स्तन कैंसर के प्रकारों को रोकने की क्षमता होती है जो एस्ट्रोजेन को प्रतिक्रिया देते हैं। अनार में एक प्राकृतिक एजेंट होता है जो महिलाओं के शरीर में एंजाइम को बाधित कर सकता है जो एस्ट्रोन को एस्ट्राडियोल में परिवर्तित करता है। यह एक शक्तिशाली एस्ट्रोजन है जो हार्मोन से होने वाले कैंसर के मूल में भूमिका निभा सकता है।
 
हल्दी
हल्दी हमेशा सूजन के इलाज के लिए एक अच्छा उपाय के रूप में जाना जाता है, क्योंकि यह करक्यूमिन से बना होता है।  हल्दी में कई हीलिंग के गुण पाए जाते हैं। इस पारंपरिक भारतीय मसाले में गठिया के दौरान होने वाले दर्द को कम करने की क्षमता है। हल्दी का एक्टिव इनग्रेडियेंट करक्यूमिन, एस्ट्रोजेन की गतिविधि का अनुकरण कर सकता है। यह जड़ी बूटी पीरियड्स के दर्द को कम करने में मदद कर सकती है।

अधिक जानकारी के लिए देखें : https://www.myupchar.com/tips/hormone-ke-naam-prakar-karya-aur-fayde-in-hindi

स्वास्थ्य आलेख www.myUpchar.com द्वारा लिखे गए हैं, जो सेहत संबंधी भरोसेमंद जानकारी प्रदान करने वाला देश का सबसे बड़ा स्रोत है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here