Union Minister Revealed, Why Is Air India Debt Increasing? – केंद्रीय मंत्री ने किया खुलासा, क्यों बढ़ रहा है एअर इंडिया पर कर्ज?

0
18


  • संसद के उच्च सदन राज्यसभा में नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने दिया बयान
  • कहा, ऊंची ब्याज दर और बढ़ती प्रतिस्पर्धा के कारण एअर इंडिया पर कर्ज बढ़ रहा कर्ज
  • एअर इंडिया के लिए 17 मार्च तक बोलियां मंगाई गई, टाटा ग्रुप लेने के फिराक में

नई दिल्ली। देश की सबसे बड़ी विमानन कंपनी एअर इंडिया पर कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। सभी मन में यही सवाल है कि एअर इंडिया की हालत ऐसी कैसे हो गई कि उसका विनिवेश करना पड़ रहा है? एअर इंडिया पर हजारों करोड़ रुपए का कर्ज कैसे बढ़ गया? इसके लिए नागर विमानन मंत्री सामने आए और उन्होंने संसद के उच्च सदन राज्यसभा में आंकड़ों सहित बताया कि एअर इंडिया के डूबने के मुख्य कारण क्या थे? आइए आपको भी बताते हैं…

यह भी पढ़ेंः- नीतिगत ब्याज दरों पर फैसला होने से पहले शेयर बाजार में तेजी, सेंसेक्स में 128 अंकों की उछाल

सवाल पर दिया लिखित जवाब
बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने एक सवाल के जवाब में लिखित में जवाब पेश करते हुए कहा कि एअर इंडिया पर 2016-17 में 48,447 करोड़ रुपए का कर्ज था, जो कि 2017-18 में 55,308 करोड़ रुपए हो गया। उसके एक साल के बाद यानी 2018-19 में यही कर्ज बढ़कर 58,255 करोड़ रुपए हो गया। उन्होंने कर्ज बढऩे का कारण बताते हुए कहा कि कर्ज में इजाफे का मुख्य कारण ऊंची ब्याज दर, सस्ती विमानन सेवा के कारण बढ़ी प्रतिस्पर्धा, रुपए की कीमत में गिरावट के कारण मुद्रा विनिमय पर प्रतिकूल असर सहित विभिन्न कारणों है। जिससे एअर इंडिया को नुकसान को हुआ है और उसके विनिवेश को मजबूर होना पड़ रहा है।

यह भी पढ़ेंः- बजट 2020 के बाद आरबीआई को महंगाई की चिंता, नहीं कम होंगी ब्याज दरें

टाटा ग्रुप की हो सकती है घर वापसी
विनिवेश के तहत एयर इंडिया के लिए 17 मार्च तक बोलियां मांगी गई है। वहीं टाटा ग्रुप एअर इंडिया को लेने के लिए दावेदारी को लेकर अपने प्लान को अंतिम रूप देने में लगा है। टाटा ग्रुप सिंगापुर एयरलाइंस के साथ एअर इंडिया के लिए बोली लगाने की तैयारी कर रहा है। अगर ऐसा होता है और एअर इंडिया टाटा ग्रुप के हाथों में आती है तो एअर इंडिया के लिए घर वापसी जैसा होगा। इसका कारण ये है कि 1932 में एअर इंडिया की शुरुआत जेआरडी टाटा ने की थी। उस समय यह टाटा एयरलाइंस के नाम से थी। नेशनलाइजेशन के बाद इसका नाम बदलकर एअर इंडिया कर दिया गया था।







Show More













LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here