Vikas Krishan and Pooja Rani book Olympic berth enter semis of Asian Boxing qualifiers

0
48


भारतीय मुक्केबाज विकास कृष्ण और पूजा रानी ने रविवार (8 मार्च) को एशिया/ओसनिया ओलंपिक क्वॉलिफायर के अपने-अपने भार वर्ग के क्वार्टर फाइनल में जीत दर्ज करके आगामी टोक्यो ओलंपिक का कोटा हासिल कर लिया। मौजूदा एशियाई चैंपियन पूजा ने महिलाओं की 75 किग्रा मुकाबले में थाईलैंड की पोम्नीपा क्यूटी को एकतरफा अंदाज में 5-0 से करारी मात देकर सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की और देश के लिए मुक्केबाजी में पहला ओलंपिक कोटा हासिल किया। 

पूजा रानी ने जहां पहली बार ओलंपिक कोटा हासिल किया जबकि कृष्ण ने लगातार तीसरी बार इस महासमर के लिए क्वॉलिफाई किया जिसका आयोजन जुलाई-अगस्त में किया जाना है। कृष्ण को हालांकि पिछले साल ओलंपिक परीक्षण स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीतने वाले ओकाजावा के खिलाफ कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। लेकिन उन्होंने लगातार दमदार मुक्कों से अंक जुटाकर 5-0 से जीत हासिल की। 

पूजा ने इस जीत के बाद कहा, “मैं पहले कभी भी क्यूटी के खिलाफ नहीं लड़ी थी, इसलिए मन में थोड़ा डर था। लेकिन सबने मुझसे कहा कि जाओ और अपना मुकाबला लड़ो, हम आपकी मदद करेंगे। इसके बाद मैंने अपने मुकाबले पर ध्यान दिया और मैंने एकतरफा जीत हासिल की।” 

Tennis: अंकिता रैना की दो जीत से भारत ने फेड कप में रचा इतिहास

उन्होंने कहा, “टोक्यो ओंलपिक के लिए क्वॉलिफाई करके मुझे बहुत अच्छा लग रहा है। आज अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस भी है, इसलिए मेरी यह जीत सभी महिलाओं को समर्पित है और उन्हें इसकी बधाई। मैं अपने इस बेहतरीन प्रदर्शन के लिए मैं अपने कोचों को भी धन्यवाद देना चाहती हूं।” 

विकास ने पुरुषों के 69 किग्रा में जापान के सेवोनरेटस ओजाका को एकतरफा अंदाज में 5-0 से मात दी। विकास तीसरी बार ओलंपिक कोटा हासिल करने में सफल रहे हैं। वह टोक्यो ओलंपिक के लिए कोटा पाने वाले पहले भारत के पहले पुरुष मुक्केबाज बन गए हैं।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here