Why Italy And Spain Less Sensitive In WHO List? – आखिर क्यों WHO की सूची में इटली और स्पेन कम संवेदनशील?

0
48


वाशिंगटन। विश्व स्वास्थ्य संगठन WHO के मांपदंडों के अनुसार इटली,स्पेन, फ्रांस, ब्रिटेन और जर्मनी अभी भी कम्युनिटी ट्रांसमिशन स्टेज (Community transmission stage) से बाहर हैं। उसकी लिस्ट में इन देशों में कोरोना वायरस का प्रकोप अधिक नहीं है। वहीं कुछ ऐसे देशों को इस लिस्ट में जगह दी है, जहां पर संक्रमण के मामले बहुत कम पाए गए हैं। इटली, स्पेन जैसे देश जहां पर मौत का आंकड़ा 15 हजार के पार हैं और जहां कोरोना से संक्रमित मरीज डेढ़ लाख पार हैं, उन्हें इस लिस्ट में पेंडिंग वर्ग में रखा गया है। वहीं सीरिया में जहां 25 मामले और मात्र तीन की मौत हुई है,उसे कम्युनिटी ट्रांसमिशन स्टेज लिस्ट में रखा गया है।

नौ अप्रैली से पहले बन रही रिपोर्ट में मापदंड तय किए गए थे कि कौन से देश कंम्युनिटी ट्रांसमिशन स्टेज में आएंगे। यह रिपोर्ट विभिन्न देशों से रोज एकत्र की जाती है। इसमें WHO के फॉर्मेट को ध्यान में रखकर हर देश अपने यहां पर मरने वालों की संख्या और संक्रमण संख्या का डेटा भेज रहा है। यह वर्ग थे अंडर इवेस्टिगेशन, इंपोर्ट मामले, स्थानीय मामले शामिल आदि। इसके आधार पर 22 देशों की सूची तैयार की गई थी।

नौ अप्रैल के बाद फॉर्मेट में बदलाव किए गए। बदले हुए मापदंड में नए मामले, समूहिक मामले आदि मापदंडों को ध्यान में रखकर वर्गीकरण किया गया। इसके आधार पर कंम्यूनिटी ट्रांसमिशन स्टेज में 22 देशों की लिस्ट में अमरीका के चार देश शामिल किए गए हैं। इसमें अमरीका, मेक्सिको, कनाडा और ब्राजील शामिल हैं। इसके साथ इस लिस्ट में सीरिया और अफ्रीका भी शामिल हो गए हैं। जबकि सीरिया में मात्र तीन की मौतें ही हुई हैं। इस वर्गीकरण में न्यूजीलैंड को सबसे अधिक संवेदनशील माना गया है। वहीं यूरोप के 49 देशों को पेडिंग केस में रखा गया है।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here