Why The Turkish President Annoyed Arab Countries – तुर्की के राष्ट्रपति क्यों अरब देशों पर बिफरे

0
46


-इन देशों पर इजराइल (israel) का समर्थन कर रहे अमरीका का साथ देने का आरोप

जयपुर.

इस्लामिक मूवमेंट में तुर्की का नाम काफी आगे है और मौजूदा राष्ट्रपति रेसप तैयप एर्दोगन इस विचार को आगे बढ़ा रहे हैं, पिछले दिनों पाकिस्तान के समर्थन कश्मीर का राग छेडकऱ उन्होंने यह साबित भी कर दिया। कुछ दिन पहले तुर्की की राजधानी अंकारा में एर्दोगन ने एक रैली में अमरीका का साथ देने पर सऊदी अरब सहित अरब देशों पर निशाना साधा। गौरतलब है कि तुर्की सहित कई देश अमरीका पर फिलिस्तीन की उपेक्षा कर इजराइल के समर्थन का आरोप लगाते हैं।
एर्दोगन इजराइल के कड़े विरोधी हैं और फिलस्तीनी लोगों की तरफ झुकाव रखते हैं। उन्होंने ट्रंप की योजना का समर्थन करने वाले देशों में सऊदी अरब, ओमान, बहरीन और संयुक्त अरब अमीरात का नाम लिया और उनके रुख पर सवाल उठाया। उन्होंने खास तौर पर सऊदी अरब पर निशाना साधते हुए कहा, तुम कब बोलोगे? शर्म करो, शर्म करो। ट्रंप की योजना पर ताली बजाने वाले हाथ अपनी इस गद्दारी का हिसाब कैसे देंगे। पिछले दिनों राष्ट्रपति ट्रंप की तरफ से पेश मध्य पूर्व योजना में इजराइल को पश्चिमी तट और जॉर्डन घाटी का नियंत्रण दिया गया है। साथ ही इस योजना के मुताबिक यरुशलम में कई अहम धार्मिक स्थल इजराइल के पास ही रहेंगे। ट्रंप ने कहा कि यरुशलम इजराइल की अविभाजित राजधानी रहेगा। अमेरिका यरुशलम को पहले ही इजराइल की राजधानी के तौर पर मान्यता दे चुका है और 2017 में उसने वहां अपना दूतावास भी खोल दिया। इतना ही नहीं एर्दोगन ने कहा, जो भी इजराइल को प्रोत्साहन दे रहा है उसे गंभीर परिणामों के लिए तैयार चाहिए।

खशोगी की हत्या और लीबिया संकट पर भी खफा
इस्तांबुल के सऊदी कंसुलेट में 2018 में पत्रकार जमाल खशोगी की हत्या के बाद सऊदी अरब और अबू धाबी के साथ तुर्की के रिश्ते खराब हुए हैं। तुर्की का कहना है कि सऊदी नेतृत्व के कहने पर खशोगी की हत्या हुई जो अमेरिकी अखबार वॉशिंगटन पोस्ट में लिखते थे। सऊदी अरब ऐसे सभी आरोपों से इनकार करता है। वहीं लीबिया में जारी संकट में तुर्की संयुक्त राष्ट्र की मान्यता वाली सरकार का समर्थन करता है, जबकि सऊदी अरब और यूईए इस सरकार के खिलाफ लड़ रहे पूर्वी कमांडर खलीफा हफ्तार का समर्थन करते हैं। लीबिया के तीन चौथाई हिस्से पर हफ्तार का ही नियंत्रण है।












LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here