Women’s Day: 5 Super Food Must Essential In Women Diet To Stay Healthy – Women’s Day: महिलाओं को फिट और एनर्जी फुल रखते हैं ये 5 सुपरफूड

0
4


Women’s Day: महिलाएं अपने रोजमर्रा के काम में मल्टीटास्कर की भूमिका निभाती है, ऐसे में उनके लिए Curcumin का सेवन करना जरूरी हाे जाता है। क्याेंकि यह नए न्यूरॉन्स की बढ़ोत्तरी करने के साथ बेहतर याददाश्त, ध्यान और अनुभूति का समर्थन करता है…

Women’s Day In Hindi: दुनियाभर में सभी लोगों के सेहतमंद रहने के लिए एक जैसे ही नियम हैं, और वो हैं, स्वस्थ खाएं, अधिक घूमें, तनाव से बचें और बेहतर नींद लें। ये नियम पुरूषों व महिलाओं पर समान तौर पर लागू होते हैं। जहां तक स्वस्थ खाने की बात आती है तो आज के समय हमारे सामने कई सेहतमंद खाद्य विकल्प मौजूद है। लेकिन आज अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर हम आपको उन पांच खास खाद्य पदार्थो के बारे में बताने जा रहे हैं, जो हर भारतीय रसोई में मौजूद होते हैं, और महिलाओं के सेहतमंद रखने के लिए सुपर फूड ( women’s daily nutritional needs ) की तरह काम करते हैं। आइए जानते हैं इनके बारे में:-

हल्दी
Curcumin, हल्दी में पाया जाने वाला एक सुरक्षात्मक एजेंट है। यह नए न्यूरॉन्स की बढ़ोत्तरी करने के साथ बेहतर याददाश्त, ध्यान और अनुभूति का समर्थन करता है। महिलाएं अपने रोजमर्रा के काम में मल्टीटास्कर की भूमिका निभाती है, ऐसे में दिमागी सेहत बनाएं रखने के लिए हल्दी का सेवन उनके लिए जरूरी हो जाता है। स्वस्थ दिमाग और शरीर के लिए कम से कम तीन प्रतिशत करक्यूमिन होता है। इसलिए महिलाओं को एक चुटकी हल्दी का सेवन रोज करना चाहिए। चाहे तो इस रात को दूध में डालकर भी ले सकते हैं।

धनिया पाउडर
धनिया पाउडर रक्त शर्करा, कोलेस्ट्रॉल और फ्री रेडिकल्स के उत्पादन को नियंत्रित करने में मदद करता है। धनिया बालों के झड़ने को रोकने के लिए जाना जाता है और इसमें प्राकृतिक उत्तेजक पदार्थ होते हैं जो शरीर में उचित हार्मोनल संतुलन बनाए रखने के लिए अंतःस्रावी ग्रंथियों को उत्तेजित करते हैं और इस प्रकार मासिक धर्म के दर्द और अनियमितताओं को कम करते हैं। रोज एक चुटकी धनिया पाउडर डाइट में शामिल करना महिलाओं की सेहत के लिए अच्छा रहता है।

आयोडीन युक्त नमक
कई महिलाओं में आयोडीन की कमी होती है, खासकर अगर वे शाकाहारी हैं, क्योंकि आयोडीन ज्यादातर समुद्री शैवाल, डेयरी, टूना, झींगा और अंडे में पाया जाता है। यह कमी थायराइड हार्मोन को नकारात्मक रूप से प्रभावित करती है और इसकी वजह से दिमागी कमजोरी आती है। आयोडीन की कमी के सामान्य लक्षण थकान और कमजोरी, बालों का झड़ना, सूखी, परतदार त्वचा, सामान्य से अधिक ठंड लगना और सीखने और याद रखने में परेशानी है। आयोडीन की पूर्ति के लिए महिलाओं को रोजाना 5 ग्राम ब्रांडेड वैक्यूम वाष्पित आयोडीन युक्त नमक खाना चाहिए।

बेसन
बेसन में मौजूद फाइबर कब्ज को दूर रखता है। साथ ही शरीर में थकान और लोहे की कमी को रोकने में मदद करता है। बी विटामिन थियामिन का एक समृद्ध स्रोत होने के नाते, बेसन शरीर को भरपूर एनर्जी देता है। एनर्जीफूल रहने के लिए महिलाओं को सप्ताह में दो से तीन बार एक कटोरी बेसन खाना चाहिए।

मसूर की दाल
अच्छी सेहत के तीन ठोस आधार हैं: पर्याप्त पोषक तत्व, अच्छी गुणवत्ता वाला प्रोटीन, और आंतों के स्वास्थ्य के लिए फाइबर – और दाल में ये तीनों चीजें भरपूर होती हैं। दाल में फोलिक एसिड पाया जाता है जो महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है। पर्याप्त फोलिक एसिड गर्भवती महिलाओं में जन्म दोष को रोकने में मदद करता है। इसलिए स्वस्थ रहने और जरूरी पोषक तत्वों की पूर्ति के लिए महिलाओं को रोज दो कटोरी दाल का सेवन करना चाहिए।







Show More




















LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here