World Cancer Day 2020: Men with breast cancer may be more likely to die of with cancer than women

0
27


World Cancer Day 2020:  हाल ही में हुआ एक अध्ययन बताता है कि स्तन कैंसर का पता चलने के पांच साल के अंदर यह रोग महिलाओं की तुलना में पुरुषों के लिए 19 फीसदी ज्यादा जानलेवा होता है।

कैंसर बड़ा खतरा-
कैंसर का पता लगने के बाद मरीज के पांच साल तक जीवित रहने की दर अलग-अलग है। पुरुषों में यह संभावना 77.6% जबकि महिलाओं में 86.4% है। बता दें, 08 में से एक महिला और 10 में से एक पुरुष में कैंसर होने की संभावना बनी रहती है। 

इन्हें ज्यादा खतरा –
-एक्स क्रोमोसोम ज्यादा होने पर पुरुषों में 50% तक बढ़ जाता है स्तन कैंसर होने का खतरा, लिम्फोमा ट्रीटमेंट भी घातक
-ऐसे पुरुष जिनकी मां, दादी-नानी या बहन को स्तन कैंसर हो चुका हो, उन्हें यह बीमारी होने की आशंका ज्यादा रहती है ।

चार तरह के कैंसर सबसे घातक-
स्तन कैंसर, मुंह का कैंसर, सर्वाइकल कैंसर,फेफड़ों का कैंसर  

मिथक और सच्चाई
-मिथक:
चेतावनी बिना आता है कैंसर
-हकीकत: ब्रिटिश जर्नल ऑफ जनरल प्रैक्टिस में प्रकाशित एक शोध के मुताबिक, कैंसर पीड़ित अधिकतर मरीजों के शरीर में बीमारी से जुड़ा कम से कम एक चेतावनी भरा लक्षण दिखता है, जिसे उन्होंने अनदेखा किया। 

बचाव के उपाय-
-धूम्रपान छोड़ें- 

इंद्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल के सर्जिकल ऑन्कोलॉजी विभाग के डॉ. शोएब जैदी के अनुसार धूम्रपान छोड़ने से कई प्रकार के कैंसर की संभावना कम हो जाती है। धूम्रपान के कारण फेफड़ों, ब्लैडर, किडनी और गले के कैंसर की संभावना बढ़ जाती है। 

चीनी से नुकसान नहीं –
अपोलो अस्पताल के ही ऑन्कोलॉजी विभाग के वरिष्ठ डॉ. रमेश सरीन का कहना था ऐसा माना जाता है कि चीनी कैंसर की कोशिकाओं को पनपने में मदद करती है। लेकिन इसका कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं पाया गया है।

(स्रोत वेंडरबिल्ट-इनग्राम कैंसर सेंटर का अध्ययन और विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट)


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here